TCS FULL FORM | TCS का FULL FORM क्या होता है ?

हेलो दोस्तो , लेके आ गया हू मै आज एक और नया पोस्ट दोस्तो इस पोस्ट में आप जानेंगे की TCS का फुल फॉर्म क्या होता है ? दोस्तो इस पोस्ट को आगे पढ़ने से पहले आपको ये पता होना चाहिए की टीसीएस का फुल फॉर्म क्या है तो TCS (Tata Consultancy Service) होता है । दोस्तो TCS का एक ओर फुल फॉर्म होता है जिसको TCS (Tax Collected At Source) कहते है । दोस्तो पहला फुल फॉर्म IT क्षेत्र से रिलेटेड है और वही दूसरा इनकम टैक्स से रिलेटेड है हम आज के इस पोस्ट में हम क्रम बद्ध तरीके से दोनो के उपर चर्चा करेंगे ।

TCS क्या है ?

दोस्तो हम आपको बता दे कि TCS एक बहुत ही बड़ी multi national information टेक्नोलॉजी की कंपनी है । दोस्तो हम आपको बता दे कि इसका ऑफिस मुंबई में है , ओर दोस्तो आपको ये जानकर बहुत ही हैरानी होगा कि पूरे दुनिया में इसके 46 शहरो में 149 ऑफिस है । दोस्तो TCS (Tata Consultancy Service) आज इस मुकाम पर पहुंच गई है कि इसका नाम दुनिया के वैल्युएबल  कंपनियों में शामिल कर दिया गया है ।

दोस्तो आपको बता दे कि 2015 के फार्ब्स रैंकिंग के बाद इसको पूरे दुनिया के कंपनियों में से 64 रैंक पर लाया गया । और दोस्तो तब से ये कंपनी दुनिया के सभी बेहतरी। कम्पनियो में से एक है ।

TCS का इतिहास क्या है ?

दोस्तो TCS (Tata Consultancy Service) का आरंभ 1968 में , consultancy के काम के लिए हुआ था । दोस्तो शायद आपको न पता हो कि शुरुआती के दिनो मे ये कंपनी Tata Steel के लिया consulting का काम करती थी । परंतु 1980 के बाद से टीसीएस ने सॉफ्टवेयर के फील्ड में अपना काम करने लगा ।

TCS क्या काम करता है ?

दोस्तो जैसा की आप लोगो को ये पोस्ट पढ़कर ये पता तो चल ही गया होगा की टीसीएस एक सॉफ्टवेयर के फील्ड में काम करती है और साथ ही साथ ये अपने ग्राहकों के लिए अलग अलग तरह  के  सॉफ्टवेयर बनती है । दोस्तो आपको ये पता होगा की आज के समय में कोई भी बड़ी कंपनी ही क्यों न हो उसे अपने व्यापार को ओर ज्यादा ढंग से मैनेज करने के लिए एक सही सॉफ्टवेयर की जरूरत पड़ती है ।

दोस्तो टीसीएस उन्ही बड़ी कंपनियों का सॉफ्टवेयर मैनेज करती है और उन्हें उनके व्यापार के हिसाब से सही ढंग का सॉफ्टवेयर बना कर देने का काम टीसीएस करती है । दोस्तो आपको ये जानकर बहुत हैरानी होगा की SBI जिसका फुल फॉर्म (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) होता है का पूरा सॉफ्टवेयर टीसीएस ने ही बनाया है ।

इसी वजह से बैंक के स्टाफ बड़ी ही सुगमता से एसबीआई के ग्राहकों को सेवाएं प्रदान कर पाती है । ओर टीसीएस के कारण ही एसबीआई के ग्राहक घर बैठे किसी को भी पेमेंट कर देते है ये सारी सॉफ्टवेयर टीसीएस द्वारा ही निर्णमणित है । दोस्तो आपको ये पता होगा की टीसीएस बहुत से संस्थाओं के लिए एग्जाम भी कंडक्ट करती है । दोस्तो यही नही बल्कि भारत के 99% पासपोर्ट ऑफिस भी टीसीएस ही चला रही है ।

TCS की कुछ प्रमुख बाते-

दोस्तो टीसीएस की कुछ मुख्य या प्रमुख बाते है जो कि निम्न लिखित है :–

  • Market केपीटीलाइजेशन के हिसाब से टीसीएस भारत की सबसे बड़ी कंपनी है ।
  • ये दुनिया की सबसे बड़ी it कंपनी है ।
  • इस कंपनी का मुख्य काम सॉफ्टवेयर बनाना है और साथ ही साथ उसे मैनेज करना है ।
  • 2004 में टीसीएस को पब्लिक लिमिटेड बना दिया गया ।
  • इसका मार्केट capitalization आज 100 बिलियन से भी ज्यादे है ।
  • टीसीएस भारत की सबसे बड़ी नौकरी प्रदान करने वाली निजी कंपनी है।
  • टीसीएस में 4.5 लाख लोग भारतीय है जिसमे से 36 परसेंट महिलाए है ।

TCS के मुख्य ग्राहक कोन है ?

TCS के मुख्य ग्राहक जोकि पूरे दुनिया में और भारत में अच्छी नाम कमा रही कंपनी के सॉफ्टवेयर को टीसीएस ने ही बनाया है कुछ बड़ी कंपनिया जिनका काम टीसीएस ने किया वो निम्न लिखित है :–

  • SBI ( State Bank Of India )
  • IRCTC ( Indian Railway Catering and Tourism Corporation )
  • Journal Electricity
  • मार गन स्टेलेनी
  • Vodaphone
  • Land Rover
  • AVIVA
  • BSNL
  • CITI Bank
  • HITACHI

दोस्तो जैसा की आपको पता है कि टीसीएस एक बहुत बड़ी सोतवारे कंपनी है जिस कारण ये कंपनी में नौकरी पाने के चांसेज अधिक होते है जिन लोगो ने भी IT sector or computer में अपनी पढ़ाई की है उनको इस कंपनी मै जॉब मिल सकता है । दोस्तो आपको ये जानकर बहुत हैरानी होगी कि ये कंपनी बहुत से institution भी चलाती है , जहा से हजारी की मात्रा में स्टूडेंट्स को सेलेक्ट किया जाता है इस कंपनी में नौकरी के लिए । ओर साथ में जब कोई requirement होता है तो ये कंपनी नोटिफिकेशन भी छात्र तक पहुंचती है ये कंपनी सुरुआती के दिनो में अच्छी खासी सैलरी देती है और मजे की बात ये है कि यदि कंपनी को आपका काम अच्छा लगता है तो वो आपको समय समय पर प्रमोट भी करती रहती है ।

TCS (Tax Collected At Source) क्या है ?

दोस्तो अभी भी बहुत से वस्तुएं है जिनपर जीएसटी नहीं लिया जाता है , जब इन वस्तुओं को बेचा और खरीदा जाता है , तब विक्रेता को खरीदार द्वारा कुछ कर दिया जाता है , इसे संग्रहण कहा जाता है । भारतीय इनकम टैक्स 206C के अनुसार जिसे बेचने वाले को टैक्स कलेक्ट करने का हक होता है ।

इनमे से अधिकांश वास्तु इसी होती है जिनसे आम लोगो को कोई फर्क नहीं पड़ता है कुछ सामग्री निम्नलिखित है जिनपर टैक्स या कर बहुत कम लगता है ।

  • शराब जिसका टैक्स है 1%
  • लोह अयस्क जैसे कोयला खनिज पर  भी 1% टैक्स लगता है
  • पार्किंग लॉज और टोल प्लाजा में भी 1% का ही टैक्स लगता है ।
  • जंगल पत्ते के तहत लकड़ी इनपर 25% लगता है
  • रद्दी माल इनपर भी 1% टैक्स लगता है

TCS के कुछ अन्य फेमस FULL FORM-

TCS- Tata Consultancy Service

TCS- Tax Collected at Source

TCS- Transaction Control System

TCS- Television corporation of Singapore

Conclusion-

दोस्तो आज के इस टॉपिक में  आप लोगो को टीएससी के विषय में बताया गया मै ये उम्मीद करता हूं की आपको ये पूरा समझ में आ गया होगा । यदि आप लोगो को इस पोस्ट से रिलेटेड कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप हमसे पूछ  सकते है , हम आपके सवाल का जल्द ही रिप्लाई देने का प्रयास करेंगे मिलते है अगले पोस्ट में तब तक के लिए जय हिंद ।

अन्य पढ़े –

3 thoughts on “TCS FULL FORM | TCS का FULL FORM क्या होता है ?”

  1. Pingback: HIV FULL FORM -

Leave a Comment