CDS Full Form  क्या होता है

CDS Full Form  क्या होता है – CDS Full Form in hindi

दोस्तों इस आर्टिकल में आपको महत्वपूर्ण से महत्वपूर्ण जानकारी मिलने वाली है क्योंकि  किस आर्टिकल में हम आपको बहुत सारे जानकारी देने वाले हैं  जैसे कि CDS Full Form  क्या होता है? , CDS क्या हैं?, CDS कौन होता है और CDS क्या काम हैं?, CDS परीक्षा 2021, CDS  परीक्षा देने की योग्यता क्या होती है , CDS परीक्षा का पैटर्न क्या होता है ?, तो अगर आपको इन सब  सवालों के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है तो आप हमारे पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें क्योंकि इस पोस्ट को आप पूरा पढ़ते हैं तो आपको ही फायदा होगा 

क्योंकि हम इस पोस्ट में आपको विस्तार से बताएंगे कि CDS फुल फॉर्म क्या होता है  तो बन रही है हमारे साथ लास्ट तक और  इस पोस्ट में हम CDS बारे में पूरी जाने की प्रयास करेंगे और वह भी सरल और आसान भाषा में जो कि कोई भी समझ सकता है। तो बने रहिए हमारे साथ और बिना कोई देर किए हुए चलिए शुरू करते हैं इस आर्टिकल को  और जानते हैं  

CDS Full Form  क्या होता है  – CDS क्या है ?

CDS की  English शब्द में   full form  Combined Defence Services होती है. और हिंदी भाषा में CDS  फुल फॉर्म संयुक्त रक्षा सेवाएं कहते है. हम आपको बता दें कि  CDS की exam ऐसे candidates के लिए बहुत ही अहम परीक्षा  होती है, जो  कोई भी   देश की भारतीय सेना में भर्ती होना चाहते हैं वह CDS  में  परीक्षा को  शामिल हो सकता है और इस परीक्षा को निकाल कर भारतीय सेना में शामिल हो सकता है  . CDS  या  संयुक्त रक्षा सेवा के द्वारा भारतीय (वायु, जल, थल,  सेना ) सेनाओं में ऑफिसर  की भर्ती या बहाली की जाती है. भारतीय वायु सेना, थल सेना,  और जल सेना में भर्ती के लिए UPSC के द्वारा एक Combined Defence Services परीक्षा का Organisation किया जाता है. जिस परीक्षा में  शामिल होने के लिए candidates को स्नातक होना  बहुत अनिवार्य  होता है.

 भारत की प्रमुख और जानी-मानी  परीक्षा conduct करने वाली संस्था UPSC (Uttar Pradesh Public Service Commission) के द्वारा कराई जाने वाली परीक्षाओं में से  एक परीक्षा CDS की भी होती है. CDS, UPSC  भर्ती के  लिए  इंटरव्यू  परीक्षा और लिखित परीक्षा आयोजित कराता है.  उस परीक्षा में  सफल होने वाले candidates को  ट्रेनिंग  के लिए    Air force अकादमी  Hyderabad,  भारतीय मिलिट्री अकादमी  Dehradun, ऑफिसर ट्रेनिंग  Chennai, और नेवल अकादमी  Goa, भेजा जाता है. UPSC का सिर्फ काम  परीक्षा  को अच्छे से  Organisation करना मात्र होता है.

भारतीय नौसेना अकादमी, अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी, भारतीय वायु सेना अकादमी, और  भारतीय सैन्य अकादमी में कमीशंड अधिकारियों की भर्ती के लिए संघ लोक सेवा आयोग द्वारा संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा (Combined Defence Services परीक्षा के रूप में संक्षिप्त) Held की जाती है. Exam के लिए notification या सूचना  आमतौर पर October और  June के महीनों में जारी  किया जाता  है, और परीक्षाएं क्रमशः  February और  November के महीने  में Held की जाती हैं. केवल Single स्नातक ही  परीक्षा  आस्थान  में बैठने के पात्र हैं.  इसका परीक्षा साल में दो बार Held की जाती है. सफल candidates को सेवा चयन बोर्ड (SSB) द्वारा Held एक interview परीक्षा  के बाद संबंधित अकादमियों में प्रवेश  की अनुमति दिया जाता है.

CDS कौन होता है और CDS क्या काम हैं?

CDS का पद तीनों भारतीय प्रमुख(head) सेनाओं  (जल, वायु, थल सेना) के बीच  समन्वय और सुगम सञ्चालन के लिए स्थापित किया गया है.  chief of Defence staff  तीनों सेनाओं के प्रमुख या head और रक्षा मंत्री के प्रमुख सलाहकार के रूप में  काम  करता है. CDS तीनों (जल, थल, वायु सेना ) सेनाओं का प्रमुख (head) होने के साथ-साथ chief of staff  commity (CoSC) का पद भी संभालते रहते हैं.

हमारे अपने देश भारत में  बहुत अधिक time से CDS के चयन की मांग की जा रही थी.  Kargil War के समय भी तीनों सेनाओं (जल, थल, वायु  सेना ) के बीच सिंगल कांटेक्ट पॉइंट और नेतृत्व की आवश्यकता  की काफी जरूरत  पड़ी  थी. लम्बे इंतज़ार के बाद  हमारे  माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा के बाद साल 2019 में 24  December 2019 को, Cabinet Committee on Security (CCS) ने इस पद की आधिकारिक स्थापना  किया . पूर्व सेना प्रमुख    general बिपिन रावत इस समय  भारत देश के पहले chief of Defence staff का पद संभाल रहे हैं. 

CDS परीक्षा 2021

CDS 2021 के लिए हर साल की तरह इस साल भी कई उम्मीदवारों ने आवेदन किए है। उन उम्मीदवारों के लिए यह एक  बहुत अच्छा मौका है जो सेना में भर्ती होकर देश की सेवा करना चाहते है। CDS 2021 की दूसरी परीक्षा के लिए आवेदन 4  August 2021 से शुरु कर दिए गए हैं। इस साल  परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों ने CDS की तैयारी में कोई कमी नहीं छोड़ी होगी क्योंकि हर साल  परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों के बीच चुनौती बड़ती ही जा रही है। उम्मीद है की  परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों ने CDS पात्रता के अनुसार ही आवेदन किए होगें। CDS 2021 की परीक्षा इस साल 14  number 2021 को आयोजित की जाएगी। इस 2021 साल के रिक्ति विवरण कुछ इस प्रकार है।

CDS परीक्षा देने की योग्यता क्या होती है 

 CDS की परीक्षा  देने के लिए आपको कम से कम विश्वविद्यालय  से पास होना  आवश्यक हैं।   Navy में  शामिल होने के लिए आपको   engineering में स्नातक होना आवश्यक है।  Air Force में जाने के लिए स्नातक के साथ साथ 10+2 में  maths और  physics होना  बेहद जरूरी है।  इस परीक्षा को सिर्फ भारतीय नागरिक ही दे सकते हैं।  इसलिए  अगर आप  भारतीय नागरिक है तो   इस परीक्षा को दे सकते हैं। 

CDS परीक्षा का पैटर्न क्या होता है 

यह परीक्षा  में  आपको objective type की होती है। इस  परीक्षा में  अगर आप गलती करते हैं तो नेगेटिव मार्किंग होती है।  आप इस परीक्षा में सिर्फ सही जवाब पर गोला भरना होता है। इस परीक्षा में अंग्रेजी, general knowledge (सामान्य ज्ञान) और  math से प्रश्न पूछे जाते हैं। लिखित  परीक्षा  पास करने के बाद कैंडिडेट का पर्सनालिटी  और  इंटेलिजेंस टेस्ट लिया जाता है।

Conclusion

तो दोस्तों आपको बेटे के बारे में पूरी जानकारी तो जरूर मिल गई होगी  क्योंकि इस आर्टिकल में हम लोग जिस प्रकार से विस्तार से  जाने हैं उसे मुझे पूरा उम्मीद है कि आपको CDS बारे में पूरी जान मिल गई होगी और आपका पूरा मन में जो सवाल है वह खत्म हो गया होगा  क्योंकि हम लोग इस आर्टिकल में जाने हैं कि CDS Full Form  क्या होता है? , CDS क्या हैं?, CDS कौन होता है और CDS क्या काम हैं?, CDS परीक्षा 2021, CDS  परीक्षा देने की योग्यता क्या होती है , CDS परीक्षा का पैटर्न क्या होता है ?, और दोस्तों हमें  पूरा  विश्वास  है कि आपको हमारे बताएंगे आप पूरा  एक एक लाइन आपको समझ में आ गया होगा | CDS के बारे में समझने में आसानी हुई होगी  तो दोस्तों अगर आपको वह हमारे ऐसे ही पोस्ट पढ़ना पसंद आता है और आप  हमारे और भी पोस्ट अच्छे-अच्छे पढ़ना चाहते हैं या चाहते हैं कि और भी ऐसे पोस्ट लाते रहे तो आप प्लीज हमें कमेंट में  अपनी राय  जरूर लिखे  | धन्यवाद

Leave a Comment